PM मोदी राज्य को देंगे 3305 करोड़ की सड़क और रेल परियेाजना की सौगात

रायपुर.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी छत्तीसगढ़ के संक्षिप्त प्रवास के दौरान कल 22 सितम्बर को जिला मुख्यालय जांजगीर में प्रदेश सरकार की अटल विकास यात्रा के तहत आयोजित किसानों के विशाल सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे। वे इस अवसर पर छत्तीसगढ़ की जनता को लगभग तीन हजार 305 करोड़ रूपए की सड़क और रेल परियोजना की सौगात देंगे। श्री मोदी लगभग साढ़े तीन साल में छठवीं बार छत्तीसगढ़ की जनता से रू-ब-रू होने जा रहे हैं।
श्री मोदी जांजगीर में एक हजार 607 करोड़ की बिलासपुर-पथरापाली फोरलेन सड़क और एक हजार 697 करोड़ 79 लाख रूपए की बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी रेललाइन परियोजना का भूमिपूजन और शिलान्यास करेंगे। उल्लेखनीय है कि बिलासपुर-पथरापाली सड़क परियोजना का निर्माण केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अंतर्गत भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा किया जाएगा। दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे के बिलासपुर-अनूपपुर खण्ड की तीसरी लाइन के निर्माण से छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर से मध्यप्रदेश के जिला मुख्यालय अनूपपुर तक रेल यातायात काफी सुगम हो जाएगा। इसके निर्माण में एक हजार 696 करोड़ 79 लाख रूपए की लागत आएगी। इस नये रेलमार्ग की लम्बाई 152 किलोमीटर होगी, इसमें से 119.55 किलोमीटर का हिस्सा छत्तीसगढ़ में और करीब 32.45 किलोमीटर का हिस्सा मध्यप्रदेश में होगा। यात्री सेवाओं के साथ-साथ केन्द्रीय सार्वजनिक उपक्रम दक्षिण पूर्वी कोयला प्रक्षेत्र लिमिटेड (एसईसीएल) के लिए रायगढ़ और मांड इलाके से कोयला परिवहन में भी आसानी होगी। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ सहित पश्चिम और मध्य तथा उत्तर भारत में स्थित ताप बिजली संयंत्रों के लिए कोयले की आपूर्ति भी आसानी से की जा सकेगी। बिलासपुर-अनूपपुर खण्ड की तीसरी रेल लाइन का निर्माण भारतीय रेल्वे की संस्था ‘राइट्स‘ द्वारा किया जाएगा।
प्रधानमंत्री पड़ोसी राज्य ओडिशा के झारसुगुड़ा से हेलीकॉप्टर द्वारा अपरान्ह 3.15 बजे जांजगीर पहुंचेंगे और वहां आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के बाद शाम 5.40 बजे रायपुर आकर स्वामी विवेकानंद विमानतल (माना) से 5.45 बजे नई दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

मुख्यमंत्री ने सड़क और रेल परियोजनाओं के लिए प्रधानमंत्री को दिया धन्यवाद

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रधानमंत्री श्री मोदी के छत्तीसगढ़ प्रवास का स्वागत करते हुए उन्हें बिलासपुर-पथरापाली फोरलेन सड़क और बिलासपुर-अनूपपुर तीसरे रेलमार्ग की सौगात देने के लिए प्रदेशवासियों की ओर से धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री लगभग साढ़े तीन साल में छठवीं बार राज्य के दौरे पर आ रहे हैं, जो इस बात का प्रमाण है कि छत्तीसगढ़ की जनता से उनका कितना गहरा जुड़ाव और आत्मीय लगाव है और उनके द्वारा राज्य को विकास के हर मामले में सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है। यह हम सब छत्तीसगढ़ वासियों के लिए गर्व और खुशी की बात है। मुख्यमंत्री ने कहा-प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार से छत्तीसगढ़ को केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से विगत लगभग चार वर्ष में 35 हजार 267 करोड़ रूपए की सड़क परियोजनाओं की स्वीकृति मिली है, इनकी लम्बाई 2804 किलोमीटर है, इनमें से 27 हजार 147 करोड़ रूपए की सड़कों और पुल-पुलियों की स्वीकृति भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के माध्यम से और आठ हजार 120 करोड़ रूपए की मंजूरी लोक निर्माण विभाग के माध्यम से मिली है।

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री

विधानसभा अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्रियों सहित प्रदेश के सभी मंत्री, सांसद, विधायक भी होंगे शामिल प्रधानमंत्री श्री मोदी के जांजगीर के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग विकास मंत्री श्री नितिन गड़करी, केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णुदेव साय, छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल सहित छत्तीसगढ़ सरकार के सभी मंत्रीगण गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चंद्राकर, वाणिज्य एवं उद्योग तथा नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, कृषि और जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप, उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा और राजस्व मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, खाद्य और ग्रामोद्योग मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, लोक निर्माण, आवास और पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत, महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, पर्यटन, संस्कृति और सहकारिता मंत्री श्री दयालदास बघेल, वन और विधि मंत्री श्री महेश गागड़ा, श्रम तथा खेल मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े और जांजगीर की लोकसभा सांसद श्रीमती कमलादेवी पाटले सहित राज्य के सभी सांसद और विधायकगण तथा अन्य वरिष्ठ जनप्रतिनिधि उपस्थित रहेंगे।
लगभग साढ़े तीन साल में प्रधानमंत्री का यह छठवां छत्तीसगढ़ दौरा उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी का विगत लगभग साढ़े तीन साल में छत्तीसगढ़ का यह छठ्वां प्रवास होगा। वे इसके पहले 09 मई 2015, 21 फरवरी 2016, एक नवम्बर 2016, 14 अप्रैल 2018 और 14 जून 2018 को राज्य के दौरे पर आ चुके हैं। श्री मोदी पहली बार 09 मई 2015 को राज्य के प्रवास पर दंतेवाड़ा आए थे, जहां उनकी उपस्थिति में 24 हजार करोड़ रूपए की रेल मार्ग परियोजना और लौह अयस्क प्रसंस्करण संयंत्रों की परियोजनाओं के लिए एमओयू हुआ था। श्री मोदी ने दंतेवाड़ा के पास ग्राम जावंगा स्थित एजुकेशन सिटी का भी दौरा किया था। वे दूसरी बार 21 फरवरी 2016 को नया रायपुर और ग्राम कुर्रूभाट (विकासखण्ड-डोंगरगढ़), जिला राजनांदगांव में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल हुए थे। नया रायपुर में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मुख्यमंत्री आवास योजना के लिए 40 हजार मकानों की बड़ी परियोजना और इलेक्ट्रॉनिक मेन्युफेक्चरिंग क्लस्टर का शिलान्यास किया था। श्री मोदी ने राजनांदगांव जिले के कार्यक्रम में देश के गांवों को शहरों जैसी बुनियादी सुविधाएं देने के लिए डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की स्मृति में रूर्बन मिशन का राष्ट्र व्यापी शुभारंभ किया था। श्री मोदी तीसरी बार एक नवम्बर 2016 को छत्तीसगढ़ आए थे। उन्होंने नया रायपुर में छत्तीसगढ़ राज्योत्सव का शुभारंभ किया था। श्री मोदी छत्तीसगढ़ के चौथे प्रवास में अम्बेडकर जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल 2018 को बीजापुर जिले के ग्राम जांगला आए थे और वहां उन्होंने आयुष्मान भारत योजना के तहत पूरे देश के लिए हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटरों की योजना तथा राष्ट्रव्यापी ग्राम स्वराज अभियान का शुभारंभ किया था। पांचवी बार छत्तीसगढ़ प्रवास पर श्री मोदी ने 14 जून 2018 को नया रायपुर और भिलाई नगर का दौरा किया था। श्री मोदी ने नया रायपुर में नागरिक सेवाओं की ऑनलाइन निगरानी और उनके सुव्यवस्थित संचालन के लिए एकीकृत कमाण्ड एवं नियंत्रण केन्द्र का शुभारंभ किया था और भिलाई नगर में आयोजित प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के समापन कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे। उन्होंने इस अवसर पर भिलाई इस्पात संयंत्र की 18 हजार 500 करोड़ रूपए की आधुनिकीकरण परियोजना का लोकार्पण और आईआईटी भिलाई के लिए 445 एकड़ में बनने वाले परिसर का शिलान्यास किया था। श्री मोदी ने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ की पांच हजार 987 ग्राम पंचायतों के लिए भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण का शुभारंभ किया था और केन्द्र सरकार की उड़ान परियोजना के तहत छत्तीसगढ़ को रायपुर-जगदलपुर-विशाखापट्नम यात्री विमान सेवा की सौगात दी थी। यह राज्य की पहली घरेलू विमान सेवा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *