अटल नगर (नया रायपुर) की तर्ज पर दिल्ली में सिटी फारेस्ट और आक्सीजोन की संभावनाओं पर मंथन

रायपुर. छत्तीसगढ़ के अटल नगर (नया रायपुर) में निर्मित सिटी फारेस्ट, जंगल सफारी और रायपुर में आक्सीजोन की सफलता से प्रभावित होकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी इस तरह की सुविधाए विकसित करने की संभावनाओं पर विचार किया जा रहा हैं। छत्तीसगढ़ के जंगल सफारी और आक्सीजोन के संबंध में जानकारी लेने के लिए दिल्ली के उप राज्यपाल श्री अनिल बैजल ने छत्तीसगढ़ सरकार से इस संबंध में आग्रह किया था।
इस संदर्भ में छत्तीसगढ़ सरकार के मुख्य सचिव श्री अजय सिंह नेतृत्व में वरिष्ठ वन अधिकारियों के एक प्रतिनिधिमण्डल ने आज नई दिल्ली में दिल्ली के उप राज्यपाल श्री अनिल बैजल के साथ एक बैठक की। बैठक में मुख्य सचिव श्री अजय सिंह ने एक प्रस्तुतिकरण के माध्यम से नया रायपुर जंगल सफारी और आक्सीजोन के निर्माण और संचालन की जानकारी दी। श्री बैजल ने छत्तीसगढ़ की इन दोनो परियोजना की प्रशंसा की। मुख्य सचिव श्री अजय सिंह ने कहा कि, अगर दिल्ली में इस तरह की सुविधाओं का निर्माण होता है तो छत्तीसगढ़ सरकार इसके लिए सभी संभव सहयोग प्रदान करने को तैयार है। बैठक में वन विकास निगम के प्रबंध संचालक श्री राजेश गोवर्धन और अपर आवासीय आयुक्त श्रीमती रीतू सेन भी उपस्थित थी।

अध्ययन भ्रमण पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों

के सदस्यों ने देखा जंगल सफारी, मंत्रालय और कृषि विश्वविद्यालय‘हमर छत्तीसगढ़’योजना में अध्ययन प्रवास पर आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों ने आज अटल नगर में जंगल सफारी और मंत्रालय (महानदी भवन) देखा। उन्होंने रायपुर में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय का भी भ्रमण किया। वनांचलों में काम कर रहे संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 390 सदस्य दो दिनों की अध्ययन यात्रा पर राजधानी रायपुर आए हैं। इनके अध्ययन प्रवास का आज पहला दिन था। हमर छत्तीसगढ़ योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के होटल प्रबंधन संस्थान में सदस्यों को विभिन्न शासकीय योजनाओं की जानकारी दी गई। संयुक्त वन प्रबंधन समितियों से सूरजपुर जिले से 167, बलौदाबाजार-भाटापारा से 94, नारायणपुर से 83 और सुकमा जिले से 46 सदस्य अध्ययन दौरे पर रायपुर आए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *