इंसान को सफल होने से रोकती हैं ये 5 आदतें, आज ही इन्हें गुडबाय बोल दें…

इंसान की सफलता सिर्फ उसके टैलेंट पर ही निर्भर नहीं करती, टैलेंट के साथ अच्छी आदतों का होना भी जरूरी है. अगर आपमें कुछ गलत आदतें आ गईं तो वो आपकी सफलता के बीच बाधक बन जाती हैं. गरुड़ पुराण में भी ऐसी ही कुछ आदतों का जिक्र है, आप भी जानें.

गरुड़ पुराण (Garuda Purana) में कुल 19 हजार श्लोक हैं, जिसमें से 7 हजार श्लोक में सिर्फ ज्ञान, धर्म, यज्ञ, तप, नीति, रहस्य आदि से जुड़ी तमाम बातें कही गई हैं. इससे ये स्पष्ट ​है कि गरुड़ पुराण सिर्फ मृत्यु के बाद की स्थितियों का वर्णन नहीं करता, ये लोगों को व्यावहारिक जीवन से जुड़ी तमाम बातें भी सिखाता है. मृत्यु के बाद इसे पढ़ने या सुने जाने के पीछे दो उद्देश्य होते हैं.

धार्मिक मान्यता के अनुसार पहला उद्देश्य है कि इसे सुनने से मरने वाले की आत्मा को सद्गति प्राप्त होती है और उसे मुक्ति के मार्ग का पता चल जाता है. इसके बाद उसका मोह बंधन आसानी से खत्म हो जाता है. दूसरा कारण ये कि मृत व्यक्ति के परिजनों को गरुड़ पुराण सुनने से सही और गलत कार्यों के बीच का अंतर पता चलता है. इससे वे जीवित रहते हुए जीवन में धर्म का मार्ग अपना सकते हैं. यहां जानिए गरुड़ पुराण में लिखी उन बातों के बारे में जो व्यक्ति के जीवन में सफलता को रोक देती हैं. अगर आप वाकई सफल होना चाहते हैं तो इन आदतों को त्याग दें.

these are the names of the shares of government companies that make money manifold in hindi

नकारात्मक सोच-गरुड़ पुराण के मुताबिक कोई भी काम सफल बनाने के लिए सकारात्मक सोच बहुत जरूरी है. जो लोग हर वक्त नकारात्मक सोचते हैं, उनके लिए सफल होना बहुत मुश्किल हो जाता है. ऐसे लोग दूसरों की सफलता से चिढ़ने लगते हैं और खुद अंदर से कुंठित रहते हैं. इसलिए सफलता का पहला मंत्र है सकारात्मक सोच, इसे अपने अंदर विकसित कीजिए.

समय का मूल्य न समझने वाले-हर व्यक्ति के पास रोज के सिर्फ 24 घंटे होते हैं. अगर आप समय का मूल्य समझते हैं तो एक एक मिनट का सदुपयोग अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए लगा सकते हैं. लेकिन अगर आपको वक्त की अहमियत का अहसास ही नहीं है, तो सफल होना आपके लिए बहुत मुश्किल है.

भाग्य के भरोसे रहने वाले-जो लोग सफलता को किस्मत की देन समझते हैं, वो लोग कभी पर्याप्त कर्म नहीं करते. ऐसे लोगों से सफलता भी कोसों दूर हो जाती है. इसलिए अगर सफल होना है तो अपनी मेहनत और कर्म से अपना भाग्य स्वयं बनाइए.

do not share these things with anyone according to garuda purana

दिखावटी लोग-जो लोग हर बात पर दिखावा करते हैं, वो दूसरों को आहत करके खुद को संतुष्ट करने का प्रयास करते हैं. ऐसे लोग कभी अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच सकते क्योंकि इनका दिमाग बस खुद को उच्च स्तर का साबित करने में लगा रहता है. यदि सफलता चाहिए तो मेहनत के बूते पर ऐसा कुछ ​कीजिए कि आपकी सफलता आपकी हैसियत का डंका बजा दे.

आलसी लोग-आलस सफलता के मार्ग में बहुत बड़ा बाधक है. आलसी लोग अपने कीमती वक्त को बर्बाद कर देते हैं. ऐसे लोगों के पास फिर सफलता कैसे आ सकती है. अगर वाकई सफल होना है, तो आलस को त्यागकर कड़ी मेहनत करो. तभी सफलता प्राप्त हो सकती है.

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *