Uncategorized

अगर सपने में काली माता के हों दर्शन तो मिल सकती है ये शक्तियां, जानने के लिए पढ़े ये रिपोर्ट

सपना एक ऐसी चीज़ है जिसके बारे में बहुत से लोगों की अलग धारणा है। सपने में अलग-अलग चीज़ों को देखने के पीछे अलग-अलग अबधारणा है, जैसे अगर किसी को सपने आप दिख जाए तो कुछ शुभ होने का उसे संकेत माना जाता है। ऐसे ही आज हम आपको बताने जा रहें हैं की अगर सपने में काली माँ के दर्शन हों तो क्या होगा। ऐसी मान्यता है की सपने में काली माँ के दर्शन होने पर कुछ शक्तियां हामरे अंदर आ जाती है , आइये जानते हैं की कौन सी है ये शक्तियां।

अलौकिक शक्तियां मिल सकती है

ज्योतिषचार्यों का कहना है की अगर सपने में काली माँ के दर्शन हो तो इसका मतलब है की कुछ औलोकिक और पारलौकिक शक्तियां सपना देखने वाले के अंदर भी आजाती है जो बुरी और अच्छी दोनों सकती है। काली माँ को शक्ति स्वरूपा रौद्र रूप के लिए जाना जाता है इसलिए सपने का आधार इस बात पर भी निर्भर करता है की माँ काली के किस रूप को आपने सपने में देखा है। सपने में अगर काली माँ के वास्तविक सवरूप का ही दर्शन हुआ हो तो इसका मतलब है की व्यक्ति बहुत ही डरा हुआ और जीवन में दिक्कतों का सामना कर रहा है। इसका एक अर्थ ये भी हो सकता है की व्यक्ति किसी ऐसी परिस्थिति में फंसा हुआ है जिसके बारे में वो किसी को नहीं बता सकता। इसके अलावा कुछ शक्तियां तो आपको जरूर हासिल होंगी।

अगर सपने में काली माँ असुरों से लड़ते हुए दिखाई दें तो ये संकेत है की…

वही दूसरी तरफ अगर काली माँ किसी व्यक्ति के सपने में असुरों से लड़ते हुई दिखाई देती हैं तो इसका मतलब है की वो व्यक्ति अपने जीवन में आने वाली हर मुसीबतों से डटकर लड़ने के लिए तैयार है। काली माँ के रौद्र रूप में हम हमेशा से काल माँ को असुरों का वध करते और उसका खून पीते ही देखते आये हैं इसलिए सपने में माँ को इस रूप में देखने का सीधा मतलब है की आप जीवन में किसी भी स्थिति से मुकाबला करने को पूरी तरह से तैयार हैं। सपने में माँ के इस रूप को देखने का मतलब है की आप विजय की राह पर हैं और कोई भी आपको अब हरा नहीं सकता है। इस तरह के सपने को सबसे शुभ माना जाता है और सपने में काली माँ के दर्शन होने का मतलब है की माँ अपने भक्तों की रक्षा के लिए हमेशा उसके साथ है। माँ के सपने में आने से आत्मविश्वास में भी गज़ब की वृद्धि होती है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button