600 बार किया गया था इस राष्ट्रपति को मा’र’ने की कोशिश, एक दिन में 2 महिलाओं के साथ बनाना था स’म्ब’न्ध…

हेलो दोस्तों आज हम बात करेंगे एक ऐसे राष्ट्रपति के बारे में जिसे कम से कम 600 बार मा-रने की कोशिश की गई थी। दोस्तों हम बात कर रहे हैं क्यूबा के राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो के बारे में। पांच दशकों तक क्यूबा पर राज करने वाले फिदेल कास्त्रो का जन्म 13 अगस्त 1926 को हुआ था। कास्त्रो ने हवाना विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री हासिल की। कॉलेज के दिनों से ही कास्त्रो राजनीतिक गलियारों में मशहूर होने लगे इसी दौरान कास्त्रो ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की और जल्दी ही वह अपने राजनीति के सफर में एक सफल व्यक्ति साबित हुए.

कास्त्रो की राजनीति में एक ऐसा भी मोड़ आया जब उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और उन पर मुकदमा चलाया गया। 1953 में कास्त्रो को मॉन्काडा बैरकों पर असफल हमले का नेतृत्व करने के आरोप में सजा मिली रिहाई के बाद वह दोबारा से क्यूबा की राजनीति में सक्रिय हो गए। 1951 से 1961 के दौरान क्यूबा की तत्कालीन राष्ट्रपति फुलगैंसियो बतिस्ता थे जो न्याय के हितों को सर्वोपरि रखते थे और आम जनता को नजरअंदाज करते थे.

google

क्यूबा के लोग भ्रष्टाचार और समानता और अन्य कई तरीकों की परेशानियों से जूझ रहे थे। क्यूबा की जनता को बतिस्ता से छुटकारा चाहिए था लोगों के विरोध ने 1953 में क्यूबा क्रांति को जन्म दिया। क्यूबा की जनता ने कास्त्रो पर भरोसा करके इस क्रांति की कमान फिदेल कास्त्रो के हाथ में दे दी। इससे क्यूबा में बदलाव की उम्मीद तेज हो गई और आखिर कार नतीजा यह हुआ कि 1953 में तत्कालीन राष्ट्रपति बटिस्टा का तख्ता पलट कर दिया गया.

इसके बाद फिदेल कास्त्रो क्यूबा के राष्ट्रपति बन गए। 22 फिदेल कास्त्रो के बारे में कुछ ऐसी बातें हैं जिन्हें सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। आप यह सुनकर आश्चर्य चकित हो जाएंगे की फिदेल कास्त्रो ने अपने जीवनकाल में कुल 35000 महिलाओं के साथ सं’बं’ध बनाए थे. फिदेल कास्त्रो पर बनी एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म में कास्त्रों के सभी शौक और कामियाबी के बारे में दिखाया गया.

google

कास्त्रो 1 दिन में कम से कम 2 महिलाओं के साथ सं’बं’ध बनाते थे। फिदेल कास्त्रो का कहना था कि उनकी 600 से भी ज्यादा बार ह-त्या करने की कोशिश की गई। उनकी ह-त्या करने के लिए जहरीली दवा से लेकर विस्फोटक पदार्थ तक का इस्तेमाल किया गया. 1960 में फिडेल ने 4 घंटे 29 मिनट का भाषण देकर अपना नाम गिनीज बुक मैं दर्ज कराया। 1986 में फिदेल कास्त्रो ने फिर से 7 घंटे 10 मिनट का भाषण देकर एक और रिकॉर्ड बनाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *