Uncategorized

अगले महीने होगा बृहस्पति का राशि परिवर्तन, जानिए गुरु का मकर राशि में गोचर किसके लिए होगा लाभकारी

सभी ग्रहों में सबसे बड़े और सबसे ज्यादा शुभ फल देने वाले देवगुरु बृहस्पति अगले महीने की 14 तारीख को अपनी राशि बदलने वाले हैं। गुरु ग्रह 14 सितंबर 2021 को शनिदेव की राशि मकर राशि में गोचर करेंगे। जहां पर ये 20 नवंबर 2021 तक रहेंगे, फिर इसके बाद कुंभ राशि में प्रवेश कर जाएंगे। गुरु ग्रह अभी इस समय कुंभ राशि में वक्री चाल से चल रहे हैं।
गुरु के 14 सितंबर को मकर राशि में परिवर्तन करने पर शनि देव के साथ युति बनाएंगे। ज्योतिष शास्त्र में गुरु ग्रह को एक शुभ और ज्ञानी ग्रह के रूप में माना जाता है। गुरु कर्क राशि में उच्च के और मकर राशि में नीच के माने जाते हैं। गुरु भाग्य, विवाह और प्रसिद्धि के कारक ग्रह हैं। 14 सितंबर को गुरु का गोचर करने से शनि के साथ युति बनेगा इस कारण से गुरु का गोचर बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है। गुरु के मकर राशि में राशि परिवर्तन करने से इसका सभी 12 राशियों पर अच्छा और बुरा दोनों तरह का प्रभाव देखने को मिल सकता है। आइए करते हैं इसका ज्योतिषीय विश्लेषण…
money
मेष राशि-इस राशि के जातकों के लिए गुरु का गोचर दशवें भाव में हो रहा है।आपको नाम और प्रसिद्धि दिलाएंगे गुरु। बिजनेस करने वाले लोगों के लिए यह किसी सपने से कम नहीं है।इस गोचर से नौकरीपेशा लोगों को वेतन में बढ़ोत्तरी और पदोउन्नति के संकेत हैं।बीमारियों से आपको बचकर रहना होगा।
mesh rashi
वृषभ राशि-वृषभ राशि के जातकों के लिए गुरु का गोचर नौवें भाव में हो रहा है।भाग्य का भरपूर साथ मिलेगा जिस कारण से रुके हुए काम पूरे होंगे।नौकरी के अवसर प्राप्त होंगे जिसका इंतजार आपको कई महीनों से था।आपके लिए यह गोचर आर्थिक नजरिए से लाभदायक रहेगा। आपको आय के नए स्त्रोत प्राप्त होंगे।प्रेम जीवन जीने वालों के लिए यह समय बहुत अच्छा रहेगा।धार्मिक गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं।

मिथुन-आपके लिए गुरु का गोचर आठवें भाव में हो रहा है।व्यवसाय और पेशेवर जातकों को अच्छे सौदे व प्रपोजल प्राप्त होंगे।नौकरीपेशा जातकों के लिए नौकरी में कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।प्रेमी-प्रेमिकाओं के लिए यह समय एक अच्छे रिश्ते का आनंद के रूप में दिन बीतेगा।अचानक और गैर जरूरी यात्रा से आपको बचना होगा।

कर्क राशि-इस राशि के जातकों के लिए गुरु का गोचर सातवें भाव में होने जा रहा है।नौकरी के बेहतर अवसर भी प्राप्त हो सकते हैं। इसके साथ वेतन में बढ़ोत्तरी की भी संभावना है।कारोबारियों के लिए गुरु का गोचर बहुत शुभ और लाभकारी है। व्यापारिक साझेदारी में चल रहे विवाद खत्म होंगे।नया बिजनेस करने वालों के लिए यह समय बहुत ही अच्छा है।निवेश करने से इस राशि के जातकों को बचकर और बहुत विवेक से साथ निर्णय लेना चाहिए।

सिंह राशि-आपके लिए गुरु का गोचर शत्रु भाव यानी छठे भाव में होने जा रहा है।इस गोचर से नौकरी करने वाले जातकों को मिलाजुले परिणाम प्राप्त होंगे।कार्यक्षेत्र में तनाव और करियर के क्षेत्र में परेशानियों को सामना करना पड़ सकता है।वाद-विवाद से आपको दूर रहना होगा। जीवनसाथी के साथ आपके टकराव हो सकते हैं।सेहत के मामले में यह गोचर सही नहीं होगा।

कन्या राशि-आपके लिए गुरु का गोचर पांचवें भाव में होने जा रहा है।कार्यक्षेत्र में आपके काम की सराहना होगी।बिजनेस में मुनाफा होने के योग है।निवेश के लिए यह समय आपके लिए अच्छा रहेगा।

तुला राशि-गुरु का गोचर आपके लिए चौथे भाव में हो रहा है।करियर में आपको कई तरह के अच्छे मौके प्राप्त होंगे।कारोबारियों को अपने कारोबार में कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है।कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आपको चिंतित कर सकती हैं।पैतृक संपत्ति से आपको कोई बड़ा फायदा मिल सकता है।

वृश्चिक राशि-आपके लिए गुरु का गोचर तीसरे भाव में हो रहा है।कार्यक्षेत्र में आपकी जिम्मेदारियां बढ़ने वाली है।नौकरी पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है।आकस्मिक खर्चे करने पड़ सकते हैं जिससे आपकी आर्थिक स्थिति कमजोर हो सकती है।जीवनसाथी से मधुर संबंध बनेंगे।

धनु राशि-गुरु का गोचर आपके लिए दूसरे भाव में होने जा रहा है।धन लाभ मिलने के पूरे आसार हैं। बैंक बैलेंस बढ़ने के संकेत हैं।पारिवारिक जीवन में कुछ कठिनाइओं का सामना करना पड़ सकता है।व्यावसायिक रूप से गुरु का मकर राशि में गोचर फायदेमंद हो सकता है। पेशेवर जीवन में वृद्धि की संभावना है।

मकर राशि-गुरु का गोचर आपके लिए पहले भाव यानी पहले घर में हो रहा है।भौतिक सुखों में कमी आने के संकेत है।किसी भी काम करने में अति आत्मविश्वास से बचें।निवेश करने के लिए अच्छा समय है।

कुंभ राशि-आपकी राशि में गुरु का गोचर द्वादश भाव में होने जा रहा है।खर्चे बढ़ने की संभावना है।व्यावसायिक रूप से यह गोचर आपके लिए बहुत फलदायी नहीं कहा जा सकता है।आय के विभिन्न स्रोतों में इजाफा हो सकता है।

मीन राशि-आपकी राशि में गुरु का गोचर एकादश भाव में हो रहा है।अचानक कहीं से धनलाभ होने की संकेत है।यह समय आपके लिए श्रेष्ठ फलदाई रहेगा इसलिए बड़े से बड़ा कार्य आरंभ करना हो, व्यापार आरंभ करना हो अथवा किसी नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो निर्णय लेने में विलंब न करें।शादी विवाह से संबंधित वार्ता सफल रहेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button