12 साल की बच्ची का यूरीन टेस्ट कराने अस्पताल पहुंची मां, रिपोर्ट में निकला कुछ ऐसा कि डॉक्टर्स के भी उड़ गए होश ..

कई बार ऐसा होता है की हमें छोटी मोटी

कई सारी समस्याएं आती है जिसे हम ज्यातादर इग्नौर कर देते हैं वहीं आपको ये भी बता दें की इन छोटी मोटी बिमारियों को इग्नौर करने से ही हमारे शरीर में बड़ी बिमारियां हो जाती है वहीं ये भी बता दें की आज भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है। आपको बता दें की ये मामला पटियाला का है। अक्सर ये चीजें हमारे ही शरीर में इस कदर घर कर जाती है कि पूरी जिन्दगी ही खराब हो जाती है ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमें हमें देखने को मिला है की एक 12 साल की बच्ची को अक्सर पेटदर्द की शिकायत रहती थीं लेकिन उसके घर वाले इसे सामान्य समझकर इग्नौर कर देते थें।

लेकिन काफी समय बाद भी उसकी ये शिकायत

दूर नहीं हुआ तो लंबे समय के बाद उसके घर वाले उस बच्ची को पास के ही एक प्राइवेट अस्पताल में ले गए और वहाँ पर उसका यूरीन टेस्ट हुआ तो डॉक्टरों को कुछ शंका हुआ जिसके बाद उन्होने उस बच्ची का अल्ट्रासाउंड भी किया गया लेकिन रिपोर्ट में जो सामने निकलकर आया वो बेहद ही हैरान कर देने वाला था। जी हां आपको बता दें की उस बच्ची की उम्र महज 12 साल की थीं और वो प्रेग्नेंट थीं इतना ही नहीं उसे ये तक मालूम नहीं था कि उसके साथ ये सब किसने किया?

फिर क्या था शाम होने तक पिता के घर वापस होने का इंतजार किया जा रहा था लेकिन बाद में उनसे भी कोई ख़ास जवाब मिल नहीं सका और ये सब कुछ होने के बाद में भी जब सब ठीक नहीं हुआ डॉक्टर्स ने चाइल्ड वेलफेयर अधिकारी को बुलाकर के बच्ची को सौंप दिया और उन्ही के निरीक्षण में ये सारी जांच हो रही है ताकि उस बच्ची के साथ कुकर्म करने वाले को पकड़ा जा सके।

हैरानी तो हर किसी को हो रही थी क्योंकि इंसान आज के समय में अपनी हवस और हैवानियत को पूरा करने के लिए कई मासूमों के जीवन के साथ खिलवा़ड कर रहे हैं और ये अपने आप में काफी ज्यादा शर्मनाक भी है जो लोगो से ऐसा काम करवा रही है और ये अपराध ना सिर्फ कानूनन बल्कि मानवीयता की नजर से भी निर्मम है और इन्हें रोका जाना जरूरी है।

जहां आज हमारे देश में सरकार बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ

जैसी योजनाओं को चलाकर बेटीयों को आगे बढ़ाने का प्रयास कर रही है वहीं दूसरी ओर इंसान जानवरों की तरह बच्चियों के साथ व्यवहार कर रहा है। इस बच्ची को तो ये भी नहीं पता है की इसके साथ ऐसा किसने किया उस हैवान को जरा भी तरस नहीं आया इस बच्ची के साथ ऐसा करने से पहले। वैसे ये पहला मामला नहीं है इससे पहले भी आपने ऐसे कई मामले सुने होंगे जिसमें कई नन्ही व मासूम बच्चियों के साथ ऐसा हुआ है।

अगर इस बच्ची की मां इसे टेस्ट के लिए अस्पताल नहीं ले गई होती तो न जाने और कितने दिनों तक इस बच्ची को दर्द सहना पड़ता इतना ही नहीं आपको ये भी बता दें की इस जानकारी के बाद इसकी मां को तो जैसे सदमा ही लग गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *