बा’ढ़ पी’ड़‍ितों की मद’द के लिए नौशाद ने दान कर दी ऐसी चीज, सो’शल मी’डिया पर बन गए हीरो..

केरल में बा’ढ़ से जन जीवन अ’स्‍त-व्‍य’स्‍त हो गया है। यहाँ अब तक 72 लोगों की मौ’त हो चुकी है । केरल में 2.27 लाख से अध‍िक लोग राहत श‍िविरों में रह रहे हैं। जबकि लगातार हो रही बारिश के कारण हाला’त और भी ब’दतर होते जा रहे हैं। सरकार, प्रशासन, एनजीओ सभी लोगों को राहत पहुंचाने की हर संभव मदद कर रहे हैं। आम जनता भी अपने बूते लोगों की मदद कर रही है।

लेकिन इस बीच नौशाद नाम के एक श’ख्‍स ने जो किया है, उसे जानकर आप भी उन्‍हें सलाम करेंगे। नौशाद स’ड़क किनारे कप’ड़े बेचते हैं। वह एर्नाकुलम में रहते हैं। 12 अगस्‍त को हम सभी ब’करीद मना रहे हैं। इस मौके पर उन्‍होंने क’पड़ों से भरा अपना पूरा गोदाम बा’ढ़ पी’ड़‍ितों को दा’न में दे दिया है। जब उन्‍हें टो’का गया, तो उन्‍होंने कहा, ‘यह मेरी ईद है।’

मलयालम एक्‍टर राजेश शर्मा बा’ढ़ पीड़‍ि’तों के लिए मदद इक्‍ट्ठा करने का काम कर रहे हैं। वह कहते हैं, ‘नौशाद हमारे पास आया और उसने कहा कि उसे कुछ कपड़े बा’ढ़ पी’ड़‍ितों की मदद के लिए देने हैं। हमें नहीं पता था कि उसके पास किस तरह के कपड़े हैं। जब हमारे लोग कपड़े लेने गोदाम में पहुंचे तो उसने अपना पूरा स्‍टॉक निकालकर दे दिया।’

रिपोर्ट के मुताबिक, नौशाद जब ऐसा कर रहे थे तो कपड़े लेने के लिए पहुंचे लोगों ने उन्‍होंने इस ह’द तक जाने के लिए म’ना भी किया। लेकिन नौशाद नहीं माने। उन्‍होंने कहा, ‘कल ईद है। यह मेरा ईद है। जब मैं मर जाऊंगा तो कुछ लेकर नहीं जाऊंगा। दूसरों की मदद होगी, यही मेरा फायदा है।’ बता दें कि राज्‍य में मुस्‍ल‍ि’म समुदाय के लोग सोमवार को ईद के मौके पर कोई उत्‍’सव नहीं मना रहे हैं। कई मस्‍ज‍िदों और समुदाय के नेताओं ने लोगों से अपील की है कि वह उत्‍सव मनाने की ब’जाय अपने संसाधनों से बा’ढ़ पी’ड़‍ितों की मदद करें।

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने रविवार को अधिकारियों के साथ मिलकर बा’ढ़ की स्थिति की समी’क्षा की है। मौसम विभाग ने भारी बारिश के अनुमान के मद्देनजर कन्नूर, कसारगोड और वायनाड के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। आने वाले कई दिनों तक भी’षण बारिश होने की आशंका है। केरल सरकार ने मिलिट्री टीमों को रेस्क्यू यूनिट्स बनाकर अभियान चलाने और फंसे हुए लोगों को एयरलिफ्ट करने का आदेश दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *