राहुल ने मुस्लिम ब्रदरहुड से RSS की तुलना की, Rahul ने देश को बदनाम करने की सुपारी ली है?

अपने यूरोप दौरे में मोदी सरकार को निशाना बनाते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की तुलना अरब देशों के इस्लामिक आतंकी संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड से करने को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भाजपा ने तीखा सियासी पलटवार किया है।
बता दें कि ‘मुस्लिम ब्रदरहुड’ अरब के कई देशों में सुन्नी मुसलमानों का धार्मिक-राजनीतिक संगठन है। इसे अरब के कई देशों में बैन भी किया गया है। इसकी स्थापना मिस्र में 1928 में एक शिक्षक हसन अल बन्ना ने की थी। अरब के कई मुल्कों में इसे आतंकी संगठन की श्रेणी में रखा गया है।

इस पर भाजपा ने राहुल से पूछा कि क्या उन्होंने देश को बदनाम करने की सुपारी ली हुई है। उन्हें सुपारी लेकर हिंदुस्तान को खत्म करने की कोशिश बंद कर देनी चाहिए। पार्टी ने राहुल से लंदन में ही देश से माफी मांगने की मांग की।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि जिस संघ से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जैसे लोग निकले हैं, गांधी उसकी तुलना एक आतंकी संगठन से करते हैं। यह माफ करने लायक नहीं है। उन्होंने राहुल से पूछा, आपको लोकतंत्र से घृणा क्यों है? आप हिंदुओं से इतनी नफरत क्यों करते हैं?

क्या भारत की जनता ने आतंकी संगठन को चुना है

संबित पात्रा ने राहुल से सवाल पूछा कि संघ का विचार वर्तमान सरकार की विचारधारा है। क्या आप कहना चाहते हैं कि भारत पर किसी आतंकी संगठन का राज है? क्या 2014 में भारत की जनता ने लोकतांत्रिक तरीके से आतंकी संगठन को सरकार चलाने के लिए चुना था? उन्होंने कहा, विदेशों में भारतीय नेता होने पर गर्व करने की बजाय कांग्रेस अध्यक्ष वहां देश को नीचा दिखाने का प्रयास कर रहे हैं।

राहुल में नहीं नेतृत्व की योग्यता

संबित पात्रा ने राहुल को नासमझ और नादान बताते हुए कहा कि उनके अंदर नेतृत्व की योग्यता ही नहीं है। उन्होंने कहा कि राहुल में एकमात्र योग्यता मोदी, भाजपा और संघ के प्रति घृणा भरी होने की है। उन्होंने कहा कि अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों से ठीक पहले राहुल में दिख रही कुंठा ठीक वैसी ही है, जो उन्होंने 2013 के आम चुनावों से पहले दिखाई थी। तब राहुल ने संघ पर आतंकी शिविर चलाने और हिंदू आतंकवाद को फैलाने का आरोप लगाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *