Uncategorized

2022 में शनि दो बार बदलेंगे राशि, 8 राशियां इससे होंगी प्रभावित, रहें सतर्क

Shani Rashi Parivartan 2022: जहां शनि की चाल से 5 राशियां प्रभावित होती हैं वहां साल 2022 में 8 राशियों पर इसका प्रभाव पड़ेगा। जानिए कौन सी ये 8 राशियां हैं और क्यों शनि दो बार बदलेंगे राशि…

Shani Transit In 2022: वैसे तो शनि ग्रह ढाई साल में एक बार अपनी राशि बदलता है लेकिन साल 2022 में ऐसा दो बार होगा। सबसे पहले तो 29 अप्रैल 2022 में शनि कुंभ राशि में प्रवेश करेगा फिर कुछ ही महीनों बाद 12 जुलाई को मकर राशि में आ जायेगा। जहां शनि की चाल से 5 राशियां प्रभावित होती हैं वहां साल 2022 में 8 राशियों पर इसका प्रभाव पड़ेगा। जानिए कौन सी ये 8 राशियां हैं और क्यों शनि दो बार बदलेंगे राशि…

शनि राशि परिवर्तन 2022: आपको बता दें कि साल 2022 में शनि एक ही बार 29 अप्रैल को अपनी राशि बदलेंगे इस दौरान शनि मकर से कुंभ में प्रवेश करेंगे। लेकिन इसके बाद वे 12 जुलाई को वक्री हो जाएंगे और अपनी उल्टी चाल चलते हुए कुछ समय के लिए अपनी पिछली राशि मकर राशि में फिर से गोचर करने लगेंगे। जहां शनि के राशि परिवर्तन से 5 राशियां शनि साढ़े साती या शनि ढैय्या से प्रभावित होती हैं वहीं साल 2022 में 8 राशियां इससे प्रभावित होंगी।

2022 में 8 राशियां शनि से होंगी प्रभावित:

सबसे पहले तो 29 अप्रैल 2022 में शनि के कुंभ में प्रवेश करते ही धनु जातकों को शनि साढ़े साती से मुक्ति मिल जाएगी और मिथुन और तुला वालों को इसकी ढैय्या से मुक्ति मिलेगी। वहीं मीन जातकों पर शनि साढ़े साती तो वहीं कर्क और वृश्चिक वालों पर शनि ढैय्या शुरू हो जाएगी। लेकिन 12 जुलाई 2022 में फिर से शनि के मकर राशि में गोचर करने से धनु, मिथुन और तुला जातक फिर से शनि की महादशा की चपेट में आ जायेंगे। यानी कुल मिलाकर 2022 में मिथुन, तुला, कर्क, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ और मीन इन 8 राशियों के जातकों को शनि के प्रकोप का सामना करना पड़ेगा।

shani dev

2021 में इन राशियों पर है शनि का प्रकोप

वर्तमान में शनि मकर राशि में गोचर हैं। मकर, धनु और कुंभ जातकों पर शनि साढ़े साती चल रही है। वहीं मिथुन और तुला वालों पर शनि ढैय्या का असर है। 23 मई से शनि वक्री चल रहे हैं इसलिए इन 5 राशि के जातकों को खास सावधानी बरतनी होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button