बंद कमरे में यूट्यूब देखा करते थे बहन-भाई, जीजा को जब पता चला..तो पैरों तले से जमीन खिसक गई

siblings used to dream of becoming rich by watching videos of fake currency on youtube

पुणे, महाराष्ट्र. सीखने की ललक हो, तो आप इंटरनेट के जरिये भी बहुत-कुछ सीख सकते हैं। लेकिन सोच सकारात्मक(Positive thinking) होनी चाहिए…वर्ना नतीजा इन बहन-भाई की तरह हो सकता है। इन बहन-भाई ने सोशल मीडिया पर कोई वीडियो देखा, जिसमें नकली नोट(Fake currency) बनाने का तरीका बताया जा रहा था।

इस वीडियो ने बहन-भाई का दिमाग खराब कर दिया। रातों-रात अमीर बनने का ख्वाब लेकर ये यूट्यूब के जरिये नकली नोट छापने की ट्रेनिंग लेने लगे। फिर कुछ नोट छापे भी। यह और बात रही कि एक सब्जी विक्रेता को नकली नोट थमाने के बाद इनकी पोल खुल गई। बहन-भाई बंद कमरे में नकली नोट छापने का वीडियो देखा करते थे। महिला दो बच्चों की मां है। उसके पति को भी यह अब पता चला कि उसकी पत्नी बंद कमरे में क्या करती थी। पढ़िए चौंकाने वाली कहानी…

यह है सुनीता राय और उसका भाई प्रदीप। दोनों को पिंपरी पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पकड़ा है। इन्होंने यूट्यूब के जरिये 50, 100, 200, 500 और 2000 के नकली नोट छापे थे। क्राइम ब्रांच यूनिट 1 के अधिकारी उत्तम तांगड़े के मुताबिक, ये लोग असली के बीच नकली नोट फंसाकर चलाते थे।

ये बुजुर्ग दुकानदार या गांव के सीधे-सादे लोगों को नकली नोट टिकाते थे। लेकिन सब्जी मंडी में एक दुकानदार को नकली नोट देने पर पोल खुल गई। उसे शक हुआ, तो उसने पुलिस को बुला लिया। सुनीता को मंगलवार शाम को पकड़ा गया था। इसके बाद उसके भाई को पकड़ लिया। आगे पढ़ें इसी खबर के बारे में…

news photo 1

पुलिस ने सुनीता के घर से दो कलर प्रिंटर और लाखों के के नकली नोट बरामद किए हैं। सुनीता के पति गणेश सावंत खुद हैरान है कि उनकी पत्नी ऐसा कुछ करती थी। गणेश ने पुलिस को बताया कि सुनीता अपने भाई के साथ बंद कमरे में घंटों रहती थी। लेकिन कभी उसने पूछा नहीं। हालांकि पुलिस को अंदेशा है कि सुनीता के पति को भी इसकी जानकारी हो सकती है। या फिर वो भी इसमें शामिल हो सकता है। सुनीता दो बच्चों की मां है। आगे पढ़िए… रात को साथियों के साथ मिलकर नकली नोट छापती थी यह महिला…

Siblings used to dream of becoming rich by watching videos of fake currency on YouTube kpa

फेक करेंसी का यह मामला जुलाई में हरियाणा में सिरसा जिले के डबवाली कस्बे में सामने आया था। ये लोग 2000 के 25 नोट और 500 के 2 नकली नोट ही कलर प्रिंटर से छाप पाए थे कि पुलिस ने छापा मार दिया। आरोपियों में से एक पहले भी पंजाब में नकली नोट चलाते पकड़ा गया था। पुलिस के अनुसार पंजाब के मुक्तसर का रहने वाला आरोपी रविंदर सिंह उर्फ बब्बी और गगनदीप सिंह कलर प्रिंटर लेकर चौहान नगर मोहल्ला स्थित रेखा रानी पत्नी तरुन कुमार के घर पहुंचे थे। यहां पर तीनों ने रातभर फेक करेंसी छापी। लेकिन इससे पहले कि वो इसे निकाल पाते, सूचना के बाद पुलिस ने घर पर छापा मार दिया। आगे पढ़ें इसी खबर के बारे में…

Siblings used to dream of becoming rich by watching videos of fake currency on YouTube kpa

पुलिस के अनुसार, रविंदर सिंह उर्फ बब्बी पहले भी बठिंडा में नकली नोट चलाते पकड़ा गया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि यह डबवाली में सक्रिय हो रहा है। आगे पढ़ें…भाई-बहन निकले थे नकली नोट खपाने…

Siblings used to dream of becoming rich by watching videos of fake currency on YouTube kpa

यह मामला अगस्त में हरियाणा के सिरसा में सामने आया था। गश्त के दौरान पुलिस ने पंजाब सीमा पर लगे मुसाहिबवाला नाके के पास बाइक सवार महिला व पुरुष को रुकवाया था। इनके पास से तीन लाख रुपए के नकली नोट पकड़े गए थे। आरोपी गगनदीप उर्फ गगन पंजाब में रहता है। जबकि हरपाल कौर उर्फ प्रीत सिरसा में। दोनों भाई-बहन लगते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *