इ’स्ला’म को लेकर गल’तफह’मि’यों को ख’त्म करने के इन तीन मु’स्लि’म देशों ने उठाया ये ब’ड़ा क’द’म..

भारत और दुनिया के अन्य देशों में मु’सलमा’नों के खिलाफ बढ़ रही न’फर’त और इ’स्ला’म के प्रति चलाई जा रही ग’ल’त धा’रणा’ओं को लेकर तीन मु’स्लि’म देशों ने एक अहम फैसला लिया है। गौरतलब है कि बीते कुछ समय से दुनियाभर में ”इ’स्ला’मो’फो’बि’या” फै’ला’या जा रहा है और ध’र्म वि’शेष के लोगों को टा’रगे’ट किया जा रहा है।

इस मामले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने इ’स्ला’म को लेकर फैलाई जा रही ग’ल’त धा’रणा’ओं को दूर करने के लिए तुर्की और मलेशिया के साथ मिलकर अंग्रेजी भाषा में इ’स्ला’मी टेलीविजन चैनल शुरू करने का फैसला लिया है। इस बारे में संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र में शामिल होने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान न्यूयॉर्क पहुंचे थे।

जहाँ उन्होंने बताया है कि इ’स्ला’मिक इतिहास से दुनियाभर को अवगत कराने के लिए अब चैनल पर मु’सल’मा’नों से संबंधित कार्यक्रमों और फिल्मों का प्रसारण किया जाएगा। जिसकी तैयारी हो चुकी है। इसके साथ ही सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर एक ट्वीट में इमरान खान ने लिखा है कि ‘राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन, प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद और मैंने आज बैठक की. इस बैठक में इ’स्ला’म को लेकर बनी ग’ल’त धारणाओं को दूर करने और म’हा’न ध’र्म इ’स्ला’म के बारे में एक अंग्रेजी चैनल शुरू करने का फैसला किया गया.’

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने बताया है कि इस्लामी टेलीविजन चैनल को शुरू करने का मकसद यह है कि इसके जरिए दुनिया भर में मु’सल’मा’नों के खि’ला’फ फैलाई जा रही ग’लत’फह’मी को दूर किया जाएगा और ई’शनिं’दा के मुद्दों को भी सही संदर्भ में प्रस्तुत किया जाएगा। इस इ’स्लामि’क टे’लीविज’न चैनल पर मु’स्लि’म इ’ति’हा’स और इससे जुड़ी सीरीज और फिल्मों का नि’र्मा’ण भी होगा।

इस दौरान पाकिस्तान तुर्की और मलेशिया की सह मेजबानी में इमरान खान ने नफ’रत भरे भा’ष’णों का प्र’ति’का’र इ’स्ला’म को लेकर गल’त धा’रणा’ओं को दूर करने के प्र’भा’वी उपा’यों पर भी जोर दिया। इमरान खान ने कहा कि किसी भी स’मु’दाय के हा’शि’ए पर जाने से क’ट्टर’ता बढ़ सकती है। इसलिए इसका स’मा’धान करने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *