घर में कपूर और लौंग का ऐसे इस्तेमाल करने से गरीबी का मुंह कभी नहीं देखते, जीवन भर अमीर रहते हैं परिवार लोग

Vastu Shastra Kapoor And Long Upay

Vastu Shastra Kapoor And Long Upay: यहां हम जानेंगे वास्तु शास्त्र के कपूर और लौंग से जुड़े उपाय जिन्हें अपनाने से धन से जुड़ी समस्याएं दूर होने की मान्यता है।

Kapoor Ke Fayde: शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसके जीवन में परेशानी न हो। अधिकतर लोगों की परेशानी पैसों से जुड़ी होती है। पैसों संबंधी दिक्कतों को दूर करने के लिए व्यक्ति काफी प्रयत्न भी करता है। लेकिन कई बार जब लाख प्रयासों के बाद भी कष्ट दूर नहीं होते तो ऐसे में कई लोग ज्योतिष उपाय को भी अजमाते हैं। यहां हम जानेंगे वास्तु शास्त्र में कपूर और लौंग से जुड़े उपाय जिन्हें अपनाने से धन से जुड़ी समस्याएं दूर होने की मान्यता है।

वास्तु शास्त्र अनुसार अगर पैसों की कमी है या कहीं पैसा फंसा हुआ है तो चांदी की कटोरी में लौंग और कपूर जलाना चाहिए। ये कार्य प्रतिदिन करने से धन-धान्य में वृद्धि होने की मान्यता है।

elss mutual fund doubles income tax savers money in one year

लाल कपड़े में एक लौंग लपेटकर धन स्थान पर रख दें। ये काम शुभ तिथि पर लक्ष्मी पूजन के बाद करें। मान्यता है ऐसा करने से कभी धन-धान्य की कमी नहीं होती है।

सुबह शाम पूजा के समय कपूर जलाकर आरती करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है। कपूर की सुगंध बहुत ही अच्छी होती है जो मन और दिमाग दोनों को शांति प्रदान करती है। इससे व्यक्ति के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

रात को सोने से पहले पीतल के बर्तन में कपूर को गाय के घी में डुबोकर जला दें इससे घर परिवार में सुख-शांति बनी रहने की मान्यता है।

घर या दुकान पर कपूर की गोलियां रखने से वास्तुदोष खत्म हो जाता है जिससे धन लाभ होने की भी मान्यता है। घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर करने के लिए 12 साबूदाने कपूर के साथ जला दें इससे धन की कमी दूर होने की भी मान्यता है। सुबह के समय दीपक में 2 साबुत लौंग डालकर आरती करने से सभी प्रकार की बाधाएं दूर होने की मान्यता है।

अगर शत्रुओं से परेशान हैं तो सात बार बजरंग बाण का पाठ करके हनुमानजी को लड्डू का भोग लगाएं और फिर पांच लौंग देशी कर्पूर के साथ जलाएं। फिर घर से बाहर भस्म का तिलक लगाकर ही निकलें। मान्यता है ऐसा करने से शत्रु परास्त होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *